Covid-19 का इलाज अब संभव, भारत सरकार से इन 2 दवाओं को दी मंजूरी

87

Fast Footer || Corona (covid-19) का कहर जारी है. लॉक डाउन और अन्य असुविधाओं के चलते देश में बेरोजगारी और भुखमरी की समस्या मुंह बाय खड़ी है. ऐसे में कोरोना के इलाज को लेकर सतत प्रयास भी जारी हैं. देश का मेडिकल साइंस लगातार कोशिशों में हैं और ख़ुशी की ख़बर ये है कि भारत सरकार ने 2 दवाइयों को मंजूरी भी दे दी है.

Corona Covid-19 संक्रमितों के लिए प्रोटोकॉल जारी

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने corona से संक्रमितों के इलाज के लिए नया प्रोटोकॉल जारी किया है. जिसके तहत स्वास्थ्य मंत्रालय ने एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिवीर जो इम्यून सिस्टम (इम्यूनिटी) को बढ़ने की दवा टोसीलीजुमेब और प्लाज्मा थैरेपी के जरिये जांच चिकित्सा के इलाज को मंजूरी दे दी है.

Corona Covid-19 की इन दवाइयों को रोक के बाद मिली मंजूरी

आपको बता दें, पहले मंत्रालय ने रेमडेसिवीर और प्लाज्मा थैरेपी पर रोक लगा रखी थी पर जब क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल की समीक्षा रिपोट आई तो उसके बाद इन्हें मंजूरी दे दी गई है. रोगी को दवा की मात्रा कितनी देनी होगी इस पर विशेष ध्यान रखना है.

क्या कहती है नई रिपोर्ट

Corona

नई रिपोर्ट के अनुसार Corona की शुरूआती स्टेज पर एंटी मलेरिया ड्रग हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन देने का सुझाव है. जबकि गंभीर मामलों में इसे देने से बचना होगा. ईसीजी के बाद ही रोगी को दवा दी जाएगी. रेमडेसिवीर एक न्यूक्लियोसाइड राइबोन्यूक्लिक एसिड (RNA) पोलीमरेज इनहिबिटर इंजेक्शन है.

कैसे होगा इनसे Corona Covid-19 का इलाज संभव

Corona

अफ्रीका के देशों में तेजी से फैलने वाली बिमारी इबोला के इलाज के लिए अमेरिका की फार्मा कंपनी गिलियड साइंसेज ने इसे बनाया था और प्लाज़्मा थैरेपी के द्वारा भी इस रोग का इलाज संभव है क्योंकी किसी भी वायरस की गिरफ्त में आने के बाद इंसान का शरीर एंटी बॉडी जेनरेट करता है और जैसा कि आप जानते हैं, शरीर में  एंटी बॉडी भरपूर मात्रा में होने पर वायरस खुद ही नष्ट हो जाता है. इसे एक व्यक्ति के खून के प्लाज़्मा मौजूद एंटी बॉडी को दूसरे बिमार व्यक्ति के शरीर में डालकर उसे ठीक किया जाता है.

भारत में corona का अकड़ा 3.25 लाख छूने वाला

Corona
corona रिपोर्ट ग्राफिक की मदद से 

बता दें कि पूरी दुनिया में अब तक कोरोना के 77 लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से अब तक सवा चार लाख लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में भी कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा सवा तीन लाख को छूने वाला है. भारत में कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या 9,000 से ज्यादा हो चुकी है. हेल्थ एक्सपर्ट का दावा है कि जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं मिल जाती, तब तक लोगों को WHO द्वारा बताई गई गाइडलाइंस को गंभीरता के साथ अपनाना होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *