सुशांत सिंह राजपूत केस: सुप्रीम कोर्ट ने दिया CBI जांच का आदेश; पटना में दर्ज FIR को माना सही

85

नई दिल्ली: दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) केस में आज सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। इस अहम फैसले के अनुसार, सुशांत सिंह केस की जांच मुंबई पुलिस नहीं, बल्कि सीबीआई ही करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने केस की जांच का अधिकार सीबीआई को देकर केंद्र सरकार के फैसले पर मुहर लगा दी है। न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की एकल पीठ ने सुशांत सिंह मौत मामले पर फैसला सुनाया। न्यायमूर्ति रॉय ने 11 अगस्त को इस याचिका पर सुनवाई पूरी की थी।

Sushant Singh Rajput के परिवार और फैंस कर रहे थे सीबीआई जांच की मांग

लंबे समय से सुशांत (Sushant Singh Rajput) का परिवार और उनके फैंस सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने बिहार में दर्ज FIR को भी सही ठहराया है। साथ ही मुंबई पुलिस को जांच में सहयोग करने का आदेश दिया है।

कोर्ट के फैसले से महाराष्ट्र सरकार, मुंबई पुलिस और रिया को बड़ा झटका

वहीं सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस को बड़ा झटका लगा है। इसके अलावा रिया चक्रवर्ती को भी झटका लगा है। क्योंकि महाराष्ट्र पुलिस इस मामले की जांच खुद करना चाहती थी, वहीं रिया इस मामले को पटना से मुंबई ट्रांसफर करवाना चाहती थीं। बता दें कि सुशांत की मौत की जांच पर अब तक पेच फंसा हुआ था।

14 जून को अपार्टमेंट में फंदे से लटके मिले सुशांत

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) 14 जून को मुंबई के उपनगर बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में फंदे से लटके पाए गए थे। सुशांत सिंह की मौत को करीब दो महीने हो गए हैं और तब से ही सुशांत का परिवार सीबीआई जांच की मांग कर रहा था। रिया ख़ुद को सुशांत की गर्लफ़्रेंड बताती हैं लेकिन सुशांत के पिता ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे की मौत रिया के कारण हुई है। सुशांत के पिता ने 25 जुलाई को पटना के राजीव नगर थाने में रिया के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कराई थी।

सभी पक्षों ने कोर्ट में दी दलील

बिहार सरकार ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि ‘राजनीतिक प्रभाव’ की वजह से मुंबई पुलिस ने एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के मामले में प्राथमिकी तक दर्ज नहीं की है। दूसरी ओर, महाराष्ट्र सरकार की दलील थी कि इस मामले में बिहार सरकार को किसी प्रकार का अधिकार नहीं है। रिया चक्रवर्ती के वकील का कहना था कि मुंबई पुलिस की जांच इस मामले में काफी आगे बढ़ चुकी है और उसने 56 व्यक्तियों के बयान दर्ज किए हैं।

ये भी पढ़ें: अमित शाह की फिर बिगड़ी तबीयत, AIIMS में हुए भर्ती

देश-दुनिया की सभी ताजा ख़बरों के लिए लिंक पर क्लिक कर यहाँ भी जुड़ सकते हैं..

FastFooter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *